Wednesday, 23 January 2008

अतिथि महामहिम की प्रेमिका से बैर!

आज सुबह के सारे अखबार इस खबर को प्रमुखता से छापे हुए थे कि फ्रांसीसी राष्ट्रपति निकोलस सारकोजी की प्रेमिका और सुपर मॉडल कार्लो ब्रुनी उनके साथ भारत की यात्रा पर नहीं आयेंगी। उन्होने ब्रुनी का ये बयान छापा था कि अभी उनकी शादी सारकोजी के साथ नहीं हुई है इसलिए वे इस यात्रा पर नहीं आयेंगी। पिछले कई दिनों से ये खबर भारतीय मीडिया की सुर्खियाँ बनी हुई हैं और पूरा मीडिया जगत इस खबर को भारतीय पाठकों को पूरे मसाले के साथ पढाने में लगा हुआ है। इसका कारण है कि इस बार भारतीय गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि फ़्रांस के राष्ट्रपति सारकोजी हैं जो आजकल ब्रुनी से अपने प्रेम के लिए पूरी दुनिया की मीडिया में छाये हुए हैं। जाहीर है कि वे भारत के राजकीय अतिथि के रुप में आ रहे हैं तो यहाँ कि सांस्कृतिक विरासत का वास्ता देकर उन्हें अपनी प्रेमिका को साथ लाने से रोका जाता। हालांकि उनके समान के कारण भारतीय अधिकारी कुछ कह नहीं पा रहे थे। लेकिन बरूनी ने अपनी तरफ से आने से मना कर सरकारी अधिकारियों कि मुश्किल हल कर दी है। अगर ब्रुनी यहाँ आ भी जाती तो तो भारतीय संस्कृती को बचाने के नाम पर हाथों में तख्तिया लिए कई संगठनों के लोग दिल्ली की सड़कों पर बवाल काटते। हम भारतीय वैसे भी भले ही अपनी संस्कृती का खुद ख्याल ना रखते हों लेकिन दूसरो से इसके पालन की अपेक्षा करना अपना अधिकार समझते हैं।

1 comment:

अरुण said...

बुरी बात है जी,आप उनसे कहिये कि ले आये और जब दिल्ली जये हमारे पास छॊड जाये..जाते समय वापस ले ले..बुड्ढे के पास गन्ने की तरह की सुरक्षा की १००%गारंटी..